Two Lines Shayari 2 Lines Shayari Bewafa Shayari Sad Shayari Touchyline

Two Lines Shayari a musical form of Poetry, allows a person to express deep feelings through words. It lets one explain sentiments in all their forms through rhythmic words. And We Are the DesiChamps Brings Best 2 Line Shayari For You. they will be painful, heart touchy Our Sad Shayari can make you feel surprised, happy, inspired, provoked and even sad. Such Love Shayari, Romantic Shayari, Life Shayari can open up hearts, change minds and sometimes even the world.

Two Lines Shayari – 2 Lines Sad Shayari

फिर यूँ हुआ कि जब भी जरुरत पड़ी मुझे,
हर शख्स इत्तफाक से मजबूर हो गया…!
 
किरदार की अज़मत को गिरने न दिया हमने,
धोखे तो बहुत खाए, धोखा न दिया हमने…!
 
यकीन मानिये वो फिर से आयेंगे जो आपको छोड़ गये है…
बस उनके मतलब के दिन आने दीजिये…!!
 
फकत इंसानियत से फिर भरोसा उठ गया मेरा… 
महज़ बस एक इंसां था कभी जिसने दिया धोखा
 
आज सड़क पर निकले तो तेरी याद आ गई ..
तूने भी इस सिगनल की तरह रंग बदला था..!!
 
कोई योगी आए बेवफाओ के शहर मे भी
ख्वाहिशो के कत्लखाने वहाँ भी बंद करवाने है.
 
मैंने तो तुझसे माँगा था थोड़ा सा उजाला…..
वाह रे चाहने वाले तूने तो आग ही लगा दी यार..
 
तेरी यादें हर रोज़ आ जाती है मेरे पास,
लगता है तुमने बेवफ़ाई नही सिखाई इनको..!!
 

2 Lines Shayari Two Lines Shayari

 
बाँधेगे किसके पाव में, अब खतों को हम;
कि परिंदे, सभी उडा दिये हमने आपकी आजमाइश मे!
 
कुछ तो हिसाब करो हमसे,
इतनी मोहब्बत उधार में कौन देता है……
 
इतना बेताब न हो मुझसे बिछड़ने के लिए
तुझे आँखों से नहीं मेरे दिल से जुदा होना है।
 
यह क्या कि तेरे हाथ भी अब काँप रहे हैं,
तेरा तो ये दावा था सितम रुक नहीं सकते !
 
कभी धूप तलाशते हैं तो कभी छाँव
बड़ी बेवफा सी हमारी तलाश है।
 
धोखा भी बादाम की तरह होता है..
जितना खाओ उतनी अक़्ल आती है..!!
 
भरोसा ना करना इस दुनिया के लोगों पे
मुझे तबाह करने वाला मेरा बहुत अज़ीज़ था
 
कोई मजबूरी होगी जो वफा कर ना सके..
मेरे मेहबूब को ना शामिल करो बेवफाओ में..!!

Best Emotional Shayari – Two Lines Shayari

 
किस लिए साहेब किसी बे-वफ़ा को अपना कहूँ,
दिल के शीशे को किसी पत्थर से क्यों टकराऊँ में।।
 
रोकना मेरी हसरत थी, चले जाना उनका शौक..
वो शौक पूरा कर गए,मेरी हसरतें तोड़ कर…!
 
जिसके लिए लिखता हूँ आज कल..,
वो कहती हैं अच्छा लिखते हो, उसको सुनाऊँगी..,
 
कभी भूल से भी मत जाना मुहब्बत के जंगल मेँ…
यहाँ साँप नहीँ हम सफर डसा करते हैँ
 
हम उनके ज़ख्मों पे मरहम लगाते रहे
वो ज़ख्म सीने में मेरे हरदम बनाते रहे
 
कितना भी प्यार कर लूँ मैं तुमको,
तुम कभी मुझसे वफ़ा कर ही नहीं सकते
 
​दिल से ….अपनाया न उसने…ग़ैर भी समझा नहीं…​
​ये भी ….इक रिश्ता है…जिसमें कोई भी रिश्ता नहीं……​
 
आज वो रोयी इस क़दर मेरे सीने से लिपट के,
की लगा जैसे वो कभी बेवफ़ा थी ही नहीं.
 

Hindi Lines Shayari Two Lines Shayari

कर दिया मेरी चाहत ने उसे लापरवाह ,
मैंने याद नहीं दिलाया तो मेरा ख्याल भी नहीं आया.
 
​इंसानी जिस्म में सैंकड़ों हैवान देखे है,​
​मैंने दिल में रंजिश रख महफ़िल में आये मेहमान देखे है.
 
आएंगे याद तुझे एक बार फिर से हम,
जब तेरे खुद के फैसले तुझे सताने लगेंगे…
 
किस्सा बना दिया एक झटके में उसने मुझे,
जो कल तक मुझे अपना हिस्सा बताते थे….
 
यूँ तो बहुत सी यादें है याद करो तो 
बस तेरा ,, जमानें भर का होना खल गया मुझको !!
 
मोहब्बत भी उधार कि तरह होती है…
लोग ले तो लेते है मगर देना भूल जाते है…!!
 
शर्त होती ही नहीं,अहले मोहब्बत में कोई…
शर्त रख दोगे तो,ये भी तो तिजारत होगी…!!

Best Heart-full Shayari – Two Lines Shayari

हर गम ने हर सितम ने हौंसला दिया…
मुझको मिटाने वालों ने मुझको बना दिया…..!!
 
झूट पर उस के भरोसा कर लिया…
धूप इतनी थी कि साया कर लिया…!!
 
इस खामख्याली में, मगरूर वो रहते हैं…
सब हुनर उन्हीं के हैं, हर ऐब हमारा है…!!
 
मुझसे मोहब्बत पर मशवरा मागते है लोग
तेरा इश्क ऐसा तजुर्बा दे गया मुझको
 
दिल की धडकनों का क्या भरोसा…
आज बावफ़ा हैं , कल बेवफा हो जाएँगी…!!
 
तेरा ख्याल दिल से मिटाया नहीं अभी
बेवफा मैंने तुझ को भुलाया नहीं अभी।
 
हमसे बदल गये वो निगाहें तो क्या हुआ
जिंदा हैं कितने लोग मोहब्बत किये बगैर!
 
तेरे गुरूर को देखकर तेरी तमन्ना ही छोड़ दी हमने,
जरा हम भी तो देखे कौन चाहता है तुम्हे हमारी तरह…!!
 
मुझे नहीं आता,ये तेरे शहर का रिवाज होगा,
कि जिस्से काम निकल जाये,उसे ज़िन्दगी से निकाल दो.!!

Best Lines Shayari Two Lines Shayari

एक तेरी खामोशी जला देती है दिल को
बाकी सब अन्दाज़ अच्छे है तेरे तेवर के
 
मेरी वफा के गवाही सितारे भी दे रहे है मगर…
मेरे चांद को ही मुझ पर भरोसा नही….
 
दरियादिली तुम्हारी मश्हूर तो थी बहूत……
पर अपने दिल में जरा सी जंगह ना दे सके मुझे….
 
माना कि बड़ा खुबसूरत हुस्न है तेरा लेकिन,
दिल भी होता तो क्या बात होती.
 
तुझे चाहने का जुर्म ही तो किया था,
तूने तो पल पल मरने की सजा दे दी !
 
होने वाले खुद ही अपने हो जाते हैं..
किसी को कह कर अपना बनाया नहीं जाता….
 
दिन गुज़ारा था बड़ी मुश्किल से..
फिर तेरा वादा-ए-शब याद आया.!

We R Social Follow Us!

|Facebook| |Pinterest| Twitter | Instagram | YouTube | Google+ |

Some of New and Latest Best Two Line Shayari

भुला कर मुझे इस तरह जी रहा है,
वो जैसे मुझे जानता तक नहीं है…

 तुम तो चाहत का समंदर हुआ करते थे ,
किस से सीख लिया मोहब्बत में मिलावट करना…!!

 मजा चख लेने दो उसे गेरो की मोहब्बत का भी,
इतनी चाहत के बाद जो मेरा न हुआ वो ओरो का क्या होगा।

 क्या कमी रह गयी होगी मेरी मोहब्बत में,
जो उसने जाने से पहले बताना भी जरुरी नहीं समझा !!

 माना मौसम भी बदलते हैं मगर धीरे-धीरे…
तेरे बदलने की रफ़्तार से तो हवाएँ भी हैरान हैं…!!

 आज मेरी ज़िन्दगी यूँ रुक- रुक के न चलती ,
अपना बना के मुझको बेगाना न किया होता…

Spread the love
  • 24
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    24
    Shares

Comments

comments

One thought on “Two Lines Shayari 2 Lines Shayari Bewafa Shayari Sad Shayari Touchyline

  • September 27, 2017 at 11:46 AM
    Permalink

    Nice lines

    Reply

You Like This Post- Write Yes is the Comment

%d bloggers like this: