Benefits Disadvantages of Eating Bananas Health Benefits, Side Effects

केले खाने के फायदे और नुकसान Benefits & Disadvantages of Eating Bananas Health Benefits And Side Effects

Benefits & Disadvantages of Eating Bananas Health Benefits And Side Effects

इस समय दुनिया मे केला (Banana) सबसे ज्यादा खाये जाने वाला फल है ये हमारे शरीर मे हमारे ब्लड प्रैशर को कम रखने, कैंसर और अस्थमा के खतरे को कम करता हैं। और अगर पैदा वार की बात करे तो ये दुनिया के 107 देशो मे उगाया जाता है। और दुनिया मे आम, सेब और संतरे से भी ज्यादा खाये जाने वाला फल है। इसलिए इसमे कोई आश्चर्य नहीं है की आज लोगो इंटरनेट पर इसके फायदे और नुकसान के बारे मे सर्च कर रहे है ।

तो आज इस पोस्ट मे हम आपको केले (Banana) से जुड़े फायदे और साथ मे उससे होने वाले नुकसान के बारे मे भी आपको बताएँगे।

Contents of this article: पोस्ट कुछ इस तरह है: – 

  • Possible Health Benefits of Bananas – केले के फायदे
  • Nutrients of Bananas – केले मे पाये जाने वाले पोषक तत्व
  • Bananas into Your Diet – आपके आहार में केले
  • Risks and Precautions – जोखिम और सावधानी

 

Possible Health Benefits of Bananas – केले के फायदे

1 Blood Pressure – ब्लड प्रैशर :-  

जैसे हम ब्लड प्रैशर (Blood pressure) को कम रखने के लिए अपने शरीर मे सोडियम की मात्र (Low Sodium Intake) को कम रखते है लेकिन हम अपने शरीर मे पोटेशियम की मात्र (High Potassium Intake) को बढ़ा सकते है क्यूंकी पोटेशियम आपको vasodilation effects (वैसोडायलेटर Body Veins को चौड़ा करने का कार्य करती हैं। यदि Blood Veins चौड़ी हो तो हृदय के लिए रक्त को पम्प करना आसान हो जाता है।) को बढ़ता है। और इसमे महत्वपूर्ण जानकारी ये है की केले (Banana) के रूप मे पोटेशियम का सेवन (High Potassium Intake) करने से हम अपने शरीर मे होने वाली 20% बीमारियो के खतरे को कम कर सकते है। और National Health and Nutrition Examination Survey के मुताबिक केवल 2% युवा (14 से 30 वर्ष तक की उम्र के) ही 4700mg Potassium की बताई गयी निश्चित मात्र का सेवन करते है।

2 Asthma – अस्थमा :- 

केला (Banana) का सेवन आपको अस्थमा से भी बचा सकता है। अगर आप अपने जीवन मे रोजाना एक केले का सेवन करते हो। तो आप अस्थमा से होने वाली बीमारी से 34% तक बच सकते है।

3 Cancer – कैंसर :- 

बच्चे के शुरुआती 2 वर्ष के जीवन मे अगर आप अपने बच्चे को केले (Banana) के जूस का सेवन कराते हो तो बचपन मे होने वाली leukemia (blood cancer) नामक बीमारी के होने का खतरा कम होता है।

केले (Banana) के अंदर vitamin C की मात्र अधिक होने के कारण ये आपको कैंसर के कारक free radicals को बनने मे भी रुकने मे मदद करता है।

केले (Banana) मे फाइबर (High fiber intakes) भी अधिक होता है। इसके लेने से ये आपको कोलोरेक्टल कैंसर (colorectal cancer) नामक बीमारी के होने के जोखिम को भी कम करता है ।

4 Heart Health – दिल की बीमारी :-

स्वस्थ दिल – केले (Banana) में फाइबर, पोटेशियम, विटामिन सी और बी 6 की मात्रा अधिक होती है जो आपके दिल (Heart) के लिए फायदेमंद होती है। अगर आप अपने आहार मे सोडियम (sodium) के सेवन में कमी के साथ साथ पोटेशियम (potassium) के सेवन में वृद्धि करते है तो आप कार्डियोवैस्कुलर (cardiovascular disease) दिल संबंधी बीमारी के जोखिम को कम कर सकते है। और जैसा की हम जानते है और हमने उपर पढ़ा है की केले (Banana) मे पोटेशियम (potassium) की मात्रा अधिक होती है। तो हम प्रतिदिन एक केले (Banana) को खाने से अपने दिल को स्वस्थ भी रख सकते है और दिल संबंधी इन बीमारियो के जोखिम को भी कम कर सकते है।

एक शोध के मुताबिक अगर हम प्रतिदिन 4069 mg of potassium पोटेशियम का सेवन करते है तो हमारे दिल संबंधी बीमारी होने का जोखिम 49% कम हो जाता है उनके मुक़ाबले जो प्रतिदिन 1000 mg of potassium का सेवन करते है।

पोटेशियम (High potassium intakes) का अधिक मात्रा मे सेवन करने से जो की केले (Banana) मे अधिक मात्रा मे पाया जाता है । हम दिल के स्ट्रोक (reduced risk of stroke) के खतरे को कम कर सकते है। ये हमारी मांसपेशियों को भी उन्नत करता है। और इसका सबसे बड़ा फायदा ये हमारी किडनी (formation of kidney stones) मे होने वाले पथरी के जोखिम को भी कम करता है। तथा इसके बदले मे स्वस्थ किडनी हमारे शरीर मे  पोटेशियम (Potassium) की मात्रा को सही रखती है ।

5 Diabetes – मधुमेह :–

एक शोध के मुताबिक टाइप 1 मधुमेह (type 1 diabetics) वाले रोगी अगर उच्च फाइबर युक्त आहार का सेवन करते है जो की केले (Banana) मे होता है। तो वो अपने खून के अंदर blood glucose levels को कम कर सकते है।

और टाइप 2 मधुमेह (type 2 diabetics) वाले रोगी भी अपने खून के अंदर के blood glucose levels और लिपिड और इंसुलिन ( lipids and insulin levels ) के स्तर को केले  (Banana) को सही मात्रा मे खा कर सुधार सकते है।

6 Digestive Health – पाचन स्वास्थ्य :-

दस्त के उपचार (Diarrhea treatment) के लिए केला (Banana) खाना लाभदायक होता है । दस्त के समय हमारे शरीर मे Electrolytes like potassium इलेक्ट्रोलाइट जैसे पोटेशियम की बड़ी मात्रा मे कमी हो जाती है। और समय व्यक्ति को कमजोरी महसूस होती है। तो केले (Banana) को सही मात्रा मे खाने पर हमारे शरीर मे होने वाली पोटेशियम (Potassium) की कमी को भी पूरा किया जा सकता है ।

 

इसके अलावा केले (Banana) के सेवन से हम अपने दिमाग की यादस्त को बढ़ाने के साथ साथ उसकी इच्छाशक्ति को बढ़ाने मे भी भरपूर मदद मिलती है । ( Preserving memory and boosting mood)

 

Nutrients of Bananas – केले मे पाये जाने वाले पोषक तत्व

Nutrients of Bananas

अगर एक केले (Banana) के वजन को लगभग 126 ग्राम माना जाये तो

1 केला (One banana) –

  • 110 calories
  • 30 grams of carbohydrate
  • 1 gram of protein
  • Vitamins and minerals विटामिन और खनिजों
  • विटामिन बी 6 (Vitamin B6) – .5 मिलीग्राम
  • मैंगनीज़ (Manganese) – .3 मिलीग्राम
  • विटामिन सी (Vitamin C) – 9 मिलीग्राम
  • पोटेशियम (Potassium) – 450 मिलीग्राम
  • आहार फाइबर (Dietary Fiber) – 3 ग्राम
  • प्रोटीन (Protein) – 1 ग्राम
  • मैग्नीशियम (Magnesium) – 34 मिलीग्राम
  • फालेट (Folate) – 25.0 एमसीजी
  • रिबोफ़्लिविन (Riboflavin) – .1 मिलीग्राम
  • नियासिन (Niacin) – .8 मिलीग्राम
  • विटामिन ए (Vitamin A)- 81 आईयू
  • लोहा (Iron) – .3 मिलीग्राम

 

Bananas into Your Diet – आपके आहार में केले

 

वैसे तो आप केले (Banana) का सेवन कभी भी कर सकते है। लेकिन क्यूंकी केले (Banana) मे बहुत से खनिज पदार्थो की मात्रा पायी जाती है तो मेरी सलाह है आप इसे अपने Dietician or Nutritionist  की सलाह से ही ले । वैसे सुबह के समय पानी के साथ केले (Banana) को खाना अच्छा माना गया है। वैसे आप केले (Banana) को सुबह अनाज या दलिया (cereal or oatmeal) के साथ भी ले सकते है। आपको स्कूल, दफ्तर भी अगर भूख लगती है तो आप बाहर की तली, बासी या फिर फास्ट जंक फूड के स्थान पर केले (Banana) को खाये इससे आपका स्वास्थ भी अच्छा रहेगा ।

 

Risks And Precautions – जोखिम और सावधानी :–

सभी प्रकार के फल आहार को संतुलित मात्रा मे ही लिया जाना चाहिए। इसलिए आपको भी केले (Banana) को कितनी मात्र मे खाना चाहिए और कब खाना चाहिए इसकी सलाह अपने Doctor, Dietician or Nutritionist से ही ले।

  • क्यूंकी अगर ह्रदय संबंधी रोग मे आप Beta-blockers नामक दवाई का उपयोग कर रहे हो तो। केला (Banana) खाना आपको नुकसानदेह भी साबित हो सकता है। वो इसलिए क्यूंकी जब हम Beta-blockers दवा का सेवन करते है। तो ये दवाई हमारे शरीर मे पोटैशियम (potassium) की मात्रा को बढ़ा देती है और केला (Banana) खाने से पोटैशियम (potassium) की मात्रा और बढ़ जाएगी जो हमारे शरीर को नुकसानदेह भी साबित हो सकती है।
  • जिनके गुर्दे (kidneys) पूरी तरह कार्य नहीं करते है उन लोगों के लिए भी अधिक केले (Banana) का सेवन करना हानिकारक हो सकता है।
  • कुछ लोगों को केले (Banana) से  एलर्जी (allergy to bananas) होती है, अगर केले (Banana) के साथ कोई एलर्जी हो तो, केले (Banana) को ना खाये। केले (Banana) को खाने से मुंह और गले में खुजली (itching) और सूजन (swelling) हो सकती है।
  • केले (Banana) खाने से कुछ लोगों में सिरदर्द हो जाता हैं। जिन लोगो को अक्सर माइग्रेन ( migraines) का सिरदर्द रहता हैं उन्हें सलाह दी जाती है कि वे आधे से ज्यादा केले (Banana) को रोजाना नहीं खाये।
  • केले (Banana) में बहुत सारे फाइबर(lot of fiber) होते हैं अत्यधिक केले (Banana) खाने से पेट मे गैस और ऐंठन (Gas and stomach cramps) भी हो सकती है।

 

We R Social

|Facebook| |PinterestTwitter | Instagram | YouTube | Google+ |

 

अगर आपके पास भी केले के फायदे और नुकसान सम्बन्धी कोई सुझाव है तो नीचे Comment करके जरूर दे। तथा हमारे द्वारा दी गयी ये जानकारी आपको कैसी लगी जरूर बताएं।

 

 

Spread the love
  • 89
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    89
    Shares

Comments

comments

You Like This Post- Write Yes is the Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.